मयूरासन के फायदे और की विधि

कहा जाता है कि भगवान शिव ने इस आसन का निर्माण किया था और चुने हुए ज्ञान को अपने ज्ञान के फायदे दिए किसी एक को सभी आसनों का ज्ञान नहीं दिया पंतजलि के बाद में सभी आसनों का ज्ञान एकत्रित कर के योग सूत्र बनाए गए हैं अगर आप योगासन के नाम देखेंगे तो यह जानवरों के बैठने का आधार है हर एक आसन के फायदे हैं और हर एक आसन को करने का सही तरीका आज हम जानेंगे कि पद्मा मयूरासन को किस तरह करना चाहिए जिससे आपको अधिक लाभ पहुंचेगा

मयूरासन के फायदे और की विधि

जब आप मयूरासन करते हैं तो आपका शरीर कुछ मयूर की तरह दिखाई देता है पूरा वजन बाहों पर आ जाता है और शरीर हवा में रहता है मयूर आसन करने से पहले आपको स्ट्रेचिंग आराम और थोड़ा व्यायाम करना चाहिए इसको सावधानीपूर्वक करना चाहिए इस आसन को करने से आपके हाथ में मोच आ सकती है

आसन करने की विधि

इस आसन को सुबह सुबह पढ़ने से आपको फायदा होता है वैसे तो सभी योगासन सूर्योदय से पहले ही लाभ पहुंचाते हैं परंतु आप समय के अनुसार यह बातें कर सकते हैं आपको योगासन खुली जगह बाग बगीचे में करना चाहिए

1.सबसे पहले घुटनों के बल बैठ जाएं

2. इसके बाद आगे की तरफ झुके

3. हाथों की उंगलियों को मोड पर सेट कर ले

4. अब थोड़ा सा आगे झुक कर अपनी शरीर का संतुलन बना रहे 

5.घुटनों को सीधा करने की कोशिश करें

6. थोड़ा सीधा हो जाए और हवा में उड़ने की कोशिश करें

7. अभ्यास को आराम करें

8. कम से कम 2 मिनट तक  इस पोज में रहे

9. आप धीरे से उसी स्थिति में आ जाए

10. इस आसन को सावधानीपूर्वक करें

मयूरासन के फायदे

*मयूरासन करने से आपकी किडनी मजबूत बनती है * लीवर को फायदा पहुंचता है

* चेहरे पर खुशी रहती है

* कंधों और हाथों की मांसपेशियां मजबूत बनती है

* कब्ज के लिए मयूरासन रामबाण इलाज है

* मधुमेह के रोगियों को मयूरासन करना चाहिए

* आंख से संबंधित सभी बीमारियां दूर होती हैं

* पाचन क्रिया और पाचन तंत्र मजबूत बनता है

* पेट की मांसपेशियां मजबूत बनती हैं

* अमाशय के सभी रोगों से मुक्ति मिलती है]

मयूरासन की सावधानियां

न्मयूरासन करते समय आपको विशेष प्रकार की सावधानी रखनी चाहिए यदि आप पहली बार इस आसन को कर रहे हैं तो अपने हाथों का विशेष ध्यान रखें मयूरासन करने के दौरान अपने शरीर का संतुलन विशेष प्रकार बनाए रखें शुरू शुरू में आप इस मुद्रा में ज्यादा समय तक ना रहे लगभग 1 मिनट तक ही इस मुद्रा में रहे अगर आप इन बीमारियों से पीड़ित है तो मयूरासन को ना करें

अगर आपको हाई ब्लड प्रेशर है

अगर आप की हड्डी टूटी हुई है

अगर कोई हड्डी की बीमारी है

या अगर आपको हर्निया है

अगर आप इन सभी रोगों से ग्रस्त हैं तो मयूरासन को ना करें आपको इस आसन की बजाय शवासन करना चाहिए आप इसके बारे में भी पढ़ सकते हैं

  1. ताड़ासन करने की विधि,इसके लाभ व सावधानियां
  2. वृक्षासन करने की विधि,इसके लाभ व सावधानियां
  3. अष्टांग योग किसे कहते हैं व इसके 8 प्रकार
  4. वज्रासन के फायदे, विधि अर्थ और सावधानियां
  5. हलासन के फायदे,विधि व इसकी सावधानियां

Leave a Comment