ध्यान मुद्रा के फायदे व विधि-dhyana mudra in hindi

ध्यान मुद्रा करना जरूरी है क्योंकि इससे हमारे शरीर को बहुत से लाभ पहुंचते हैं ध्यान मूद्रा करने से हमारे शरीर में एकाग्रता बढ़ती है और हमारे मन को शांति मिलती है व हमें ताकत की प्राप्ति होती है ध्यान मूद्रा करने से मनुष्य संतुलित रहता है ध्यान मूद्रा करने के लिए पद्मासन अपनाना चाहिए व निश्चित समय पर ध्यान मूद्रा में बैठना चाहिए यह सिंहासन मुद्रा में बैठकर भी किया जा सकता है जैसे ध्यान लगाने के 2 तरीके है वैसी ही ध्यान मुद्रा के भी 2 तरीके हैं

dhyana mudra in hindi

ध्यान मुद्रा क्या है

आपको नाम से ही पता चल पा रहा होगा कि यह एक मुद्रा है जिसको करने से हमारे शरीर को बहुत लाभ पहुंचते हैं इस मुद्रा को पुराने समय में लोग मोह माया से मुक्ति पाने के लिए यह मुद्रा करते थे एकांत और शांत वातावरण में बैठकर इस अभ्यास को करते थे अगर आप भी अपनी परेशानियों से मुक्ति पाना चाहते हैं तो इस आसन को जरूर करें इस आसन को करने से मन को शांति प्राप्त होती है

ध्यान मूद्रा का शाब्दिक अर्थ है हाथों की उंगलियों की ध्यान की स्थिति जो हमारे अभ्यास को क्या करें और अच्छे परिणाम लाने में सिद्धू हो इसे ध्यान मूद्रा कहते हैं

ध्यान मुद्रा में हाथ की विधि

योग साधना में मुद्रा कई प्रकार की होती है कुछ मुद्राओं ने योग साधना में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है और कहीं मुद्रा में हाथ की उंगलियों का विशेष महत्व है ध्यान मूद्रा में हर उंगली का एक विशेष महत्व होता है ध्यान मूद्रा में सभी उंगलियों को एक साथ काम पर लगाना पड़ता है जिससे यह आसन अच्छे से हो पाता है ध्यान मूद्रा करने से शरीर के पांचों तत्वों का संतुलन अच्छी तरह से बना रहता है

ध्यान मुद्रा करने की विधि

1.यह आसन करने के लिए पद्मासन या सिंहासन की स्थिति में बैठना है

2. आसन में आने के बाद दोनों हाथों की कोहनी घुटनों पर रखें

3. अंगूठे को तारजनी उनगली के प्रथम पौर से मिला ले

4. हाथों की बाकी उंगलियां सीधी रहनी चाहिए

5. अब आप ध्यान व ज्ञान की मुद्रा में आ चुके हैं इस मुद्रा को ध्यान मूद्रा कहते हैं

एक और तरीका है जिसे अमित आभा ध्यान मूद्रा या अमिताभ मुद्रा कहते हैं।अगर आप लंबे समय तक ध्यान मूद्रा करते हैं तो आपके लिए यह अच्छा है कि आप अमिताभ मुद्रा करें यह मुद्रा करने के लिए बाएं हाथ की हथेली पर दाएं हाथ रखे और पद्मासन की स्थिति में बैठकर यह मुद्रा करें

ध्यान मुद्रा के फायदे

1.ध्यान मूद्रा से शरीर में संतुलन बना रहता है

2. शरीर में ऊर्जा का संचार होता है

3. शरीर का मोटापा कम होता है

4. दिमाग की मेमोरी पावर बढ़ती है

5. क्रोध नियंत्रण में रहता है

6. आलस पन दूर होता है

7. चेहरे पर खुशी की भावना रहती है

8. सर दर्द से आराम मिलता है

9. स्ट्रेस कम होता है

10. डिप्रेशन से मुक्ति मिलती है

जैसा कि आप ऊपर पढ़ चुके हैं कि ध्यान मूद्रा से बहुत प्रकार के लाभ पहुंचते हैं इसलिए आपको यह मुद्रा प्रतिदिन सुबह-सुबह करनी चाहिए इससे आपको फायदा होता है ध्यान मूद्रा से आपके शरीर को कोई नुकसान नहीं होता|

आपको यह भी जानना चाहिए

  1. ताड़ासन करने की विधि,इसके लाभ व सावधानियां
  2. वृक्षासन करने की विधि,इसके लाभ व सावधानियां
  3. अष्टांग योग किसे कहते हैं व इसके 8 प्रकार
  4. वज्रासन के फायदे, विधि अर्थ और सावधानियां
  5. हलासन के फायदे,विधि व इसकी सावधानियां

लोगों द्वारा पूछे गए प्रश्न FAQ

Q.ध्यान मूद्रा से क्या लाभ होता है

A. इस मुद्रा को करने से हमारे मृत्यु को बहुत लाभ होता है जिससे हमारा मस्तिष्क शांत रहता है और मैं न्यूरॉन का विकास बहुत जल्दी-जल्दी होता रहता है जिससे हमारे दिमाग की क्षमता बढ़ती है यह मुद्रा मस्तिष्क के लिए अधिक उपयोगी है

Q. ध्यान मूद्रा करते समय कैसे बैठना चाहिए

A.ध्यान मूद्रा करते समय पद्मासन की स्थिति में बैठना चाहिए और मन को शांत रखकर मन में ध्यान लगाना चाहिए

अंतिम शब्दों में– अगर आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लगी हो तो आप इसे सोशल मीडिया पर शेयर करना मत भूलें और अगर आपको इससे संबंधित कोई भी प्रश्न है तो आप हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट कर सकते हैं अगर आपको यह लेख अच्छा लगा तो कमेंट जरूर करें

ध्यान मुद्रा का वीडियो

Leave a Comment