Ashwini Mudra In Hindi : अश्विनी मुद्रा के फायदे

योगासन से आपके शरीर के हर भाग हस्तियां ग्रंथियां हड्डियां रीड की हड्डी और दिमाग को फायदा होता है मगर इसे सही तरीके से करना चाहिए निश्चित तरीके से करना चाहिए तभी आप योग का फायदा उठा सकते हैं

अश्विनी मुद्रा के फायदे
Ashwini Mudra In Hindi

हर एक आसन के विशिष्ट फायदे होते हैं आप इस आसन को कर सकते हैं किसी शारीरिक स्थिति के लिए या फिर स्वस्थ रहने के लिए सभी आसनों में से अश्विनी मुद्रा आसन एक अच्छा आसन है जिसे कोई भी व्यक्ति कर सकता है इस आसन को करने के लिए कोई खास परामर्श नहीं है अगर कोई व्यक्ति बीमार है और बैठ सकता है तू वह अश्विनी आसन मुद्रा कर सकता है बीमारी में यह आसन करने से अधिक लाभ पहुंचता है

अश्विनी मुद्रा आसन करने की विधि

गुडद्वार को सिकोड़ना और फैलाना उसे अश्विनी आसन कहा जाता है यह एक विशिष्ट आसन है और इसे करने के लिए आप पद्मासन या अर्ध पद्मासन पॉज अपनाएं यह मुद्रा करने के लिए आप कागासन भी अपना सकते हैं यानी कि जब कोई व्यक्ति शौचालय जाता है और सही तरीके से बैठता है उसे कागासन कहते हैं

इन दोनों में से आप कोई भी पोज अपना सकते हैं

अब आप अपने गुडद्वार को संकुचित करें और कुछ समय तक ऐसे ही स्थिति में रहे थोड़ी देर यह आसन करने के बाद आप रिलैक्स करें इस आसन को कम से कम 20 मिनट तक करें इस आसन से आपका गुडद्वार मजबूत होता है और शरीर में शक्ति का समावेश होता हैअनेक विद्वानों ने इस मुद्रा को योगा की सबसे अच्छी मुद्रा बताया है क्योंकि यह योगा की सबसे आसान मुद्रा है

अश्विनी मुद्रा आसन के फायदे

अश्विनी मुद्रा करने से आपकी शरीर में जो जो फायदे होते हैं उनका वर्णन कुछ इस प्रकार किया गया है

  1. इश्क आसन का उपयोग करने से आपकी शरीर में गुर्दे स्वस्थ रहते हैं
  2. अगर आप किडनी की बीमारी से पीड़ित हैं तो आपके लिए यह आसन सबसे अच्छा आसन है
  3. यह आसन करने से आपके शरीर में ऊर्जा बढ़ती है और लंबी उम्र तथा आप जवान दिखाई देते हैं
  4. आसन से प्रजनन अंगों का सुधार होता है
  5. कुंडलिया जागृत करने के लिए भी इस आसन का प्रयोग किया जाता है
  6. अश्विनी मुद्रा से प्राणशक्ति बनती है और क्षय रोग की समाप्ति होती है

तनाव दूर करने के लिए

अश्विनी मुद्रा का अभ्यास तनाव दूर करने के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है साथ ही यह शरीर में समरण शक्ति को भी बढ़ाता है अगर आप तनाव से ग्रस्त हैं तो इस आसन को सुबह सुबह उठकर अच्छे वातावरण में रोज करें अगर आप कई दिनों तक लगातार इस आसन को सुबह सुबह करते हैं तो आप तनाव से जल्द ही छुटकारा पा सकते हैं

पेट की समस्या दूर करें

पेट से संबंधित सभी बीमारियों से छुटकारा पाने के लिए ही अश्विनी आसन मुद्रा का अभ्यास जरूर करें अश्वनी आसन करने से पेट में गैस कब्ज आदि की बीमारियां दूर होती हैं इसके साथ पेट में जलन और पेट दर्द में आराम मिलता है इसलिए अगर आपको पेट की कोई भी समस्या है तो आप इस मुद्रा को रोजाना करें

ध्यान मुद्रा के फायदे व विधि-dhyana mudra in hindi

अश्विनी मुद्रा कब करनी चाहिए

अश्विनी मुद्रा सुबह-सुबह करने से आपके शरीर को अधिक लाभ पहुंचता है इस आसन को पराए खाली पेट करना चाहिए खाली पेट यह मुद्रा करने से शरीर में संतुलन बना रहता है अगर आपके पास सुबह समय नहीं है तो आप मुद्रा को शाम को भी कर सकते हैं लेकिन खाना खाने से पहले शुरुआत के दिनों में आपको यह मुद्रा एक्सपर्ट की देखरेख में करनी चाहिए

अश्विनी मुद्रा की सावधानियां

सावधानियां इतना जरूर ध्यान रखें कि अगर आपको किडनी की बीमारी है तो आप किसी गुरु के परामर्श यह उसकी सलाह के अनुसार ही इस मुद्रा को करें वह जिन व्यक्तियों को गुर्दे की बीमारी और नस में किसी भी प्रकार की बीमारी होती हो वह व्यक्ति भी इस आसन को बिल्कुल ना करेंऐसी बनी आसन मुद्रा सुबह खाली पेट ही करना चाहिए खाना खाकर यह आसन करने से पेट की कई बीमारियां उत्पन्न होती है इसलिए खाली पेट में मुद्रा करें

आपको यह भी जानना चाहिए

  1. ताड़ासन करने की विधि,इसके लाभ व सावधानियां
  2. वृक्षासन करने की विधि,इसके लाभ व सावधानियां
  3. अष्टांग योग किसे कहते हैं व इसके 8 प्रका
  4. वज्रासन के फायदे, विधि अर्थ और सावधानियां

अश्विनी मुद्रा का वीडियो

Leave a Comment