स्वस्थ रहने के बेहतरीन तरीके

English में एक कहावत है-Health is Wealth. अर्थात स्वस्थ ही धन है। तथा इसी स्वास्थ्य(Health) के लिए हिंदी में भी कहा गया है”पहला सुख निरोगी काया”।अतः अच्छा जीवन जीने के लिए,विकास करने के लिए शरीर का स्वस्थ(Healthy) रहना बहुत आवश्यक है।

स्वस्थ रहने के बेहतरीन तरीके

क्योंकि एक स्वस्थ शरीर मे ही स्वस्थ मस्तिष्क निवास करता है। एक स्वस्थ(Healthy) शरीर एक अच्छे व्यक्तित्व(Personality) की निशानी भी माना जाता है। एक स्वस्थ व्यक्ति में अच्छे नेतृत्व(Leadership), तथा विपरीत परिस्थितियों में समायोजन(Adjustment) के गुण पाए जाते है। वही दूसरी तरफ कमजोर शरीर वाला व्यक्ति आत्मविश्वास(Self-confidence) से हीन होता है जिससे उसमे सही समय पर सही निर्णय लेने का अभाव होता है। शरीर कमजोर होने पर कई तरह की बीमारिया भी हो जाती है तथा शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता कम होने से इन बीमारियों को दूर करने में शरीर को बहुत समय लगता है। अतः व्यक्ति की प्रथम प्राथमिकता उसका अच्छा स्वास्थ्य होना चाहिये।

स्वस्थ रहने के लिए बेहतरीन तरीके क्या हें

  • स्वस्थ रहने की दिशा में आपका पहला कदम एक व्यवस्थित दिनचर्या होनी चाहिये।बिना व्यवस्थित दिनचर्या के के अच्छे स्वास्थ्य की कल्पना करना बेकार है।अतः आपको एक ऐसी दिनचर्या बनानी चाहिये, जिसमे सुबह जागने से लेकर शाम को सोने तक कि सारी गतिविधियों का समावेश हो।
  • सुबह शाम समय निकालकर शारारिक कसरत जैसे दौड़ लगाना,पुश-उप आदि तथा योगासन-प्राणायाम आदि अवश्य करे। योग आदि करने से मन एकाग्र तथा स्वस्थ रहता हैं तथा दौड़ आदि लगाने से वजन नियंत्रित व शरीर Fit रहता है।
  • हाई कैलोरी व जंक फूड जैसे-कचोरी,समोसा,बर्गर आदि खाने से बचना चाहिये क्योंकि इनमें बेकार व हाई कैलोरी वसा वाले तेल का इस्तेमाल किया जाता है जिसको पचाने में शरीर को बहुत मेहनत करनी पड़ती है जिससे शरीर की अधिकांश ऊर्जा का भाग इन्हें पचाने में ही खर्च हो जाता है।अतः जहाँ तक संभव हो घर का बना हुआ खाना ही खाना चाहिए।
  • शराब या किसी अन्य अल्कोहल प्रोडक्ट का सेवन न करे।अल्कोहल शरीर की नसों को मोटा व नसों की आंतरिक परिधि को सिकुड़ा देता है जिससे Blood Pressure हाई हो जाता है तथा Heart Attack होने के चांस बढ़ जाते है।
  • गुटखा, सिगरेट, पान, जर्दा,खैनी,आदि तम्बाकू प्रोडक्ट का भी सेवन नही करे।क्योकि तम्बाकू में निकोटिन नामक केमिकल पाया जाता है जो नसों व खून में मिलकर हीमोग्लोबिन की मात्रा को घटा देता है जिससे शरीर मे आक्सीजन की सही तरीके से supply रुक जाती है। तथा गुटखा आदि खाने से लार का अधिकांश हिस्सा थूकने में चला जाता है जिससे शरीर का पाचन तंत्र गड़बड़ा जाता है।
  • भोजन में संतुलित व पोष्टिक आहार को स्थान दे।सब्जियों में हरी सब्जियों व दाल को प्राथमिकता दे।
  • फालतू की बहसबाजी आदि में अपना समय व ऊर्जा बर्बाद न करे। इससे कभी-2 मानसिक तनाव के शिकार भी हो सकते है।
  • अपने मन व गुस्से पर कंट्रोल करे क्योकि क्रोध बुद्धि का सर्वथा नास कर देता है।
  • कम से कम 6-8 घण्टे की नींद अवश्य ले,ताकि दिमाग के ऊतको(tissue) को आराम मिल सके व शरीर सही ढंग से कार्य कर सके।
  • सुबह का नाश्ता करना न भूले तथा देर रात को भी भोजन नही करना चाहिए।

उम्मीद है आपको ये पोस्ट पसंद आई होगी।अतः ऐसी ही अन्य पोस्ट लिखने व उत्साहवर्धन के लिए आप नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में कमेंट लिखकर हमे सूचित कर सकते है तथा हमारा ब्लॉग भी फॉलो कर सकते है ताकि आपको Health से संबंधित सूचनाएं प्राप्त होती रहे।आप हमें अपने स्वास्थ्य से संबंधित समस्याओं से भी कमेंट के द्वारा अवगत करा सकते है।

आपको यह भी जानना चाहिए

  1. विटामिन ए किस से मिलता है
  2. मुंहासे के लिए सबसे अच्छी क्रीम कौन सी है
  3. याददाश्त बढ़ाने की घरेलू उपाय
  4. कमजोरी से छुटकारा पाने के लिए उपाय
  5. आयुर्वेदिक फेस क्रीम बनाने की विधि

Leave a Comment