शीर्षासन के फायदे विधि तथा इसके नुकसान

शीर्षासन का नाम शीर्ष शब्द के आधार पर रखा गया है जिसका अर्थ है सिर आज हम शीर्षासन के फायदे तथा इसके नुकसान के बारे में पूरी जानकारी आपको विस्तारपूर्वक बताएंगे|

शीर्षासन के फायदे विधि तथा इसके नुकसान

सभी आसनों को करने से पहले जमीन पर कंबल बिछा लेना चाहिए ताकि जमीन ज्यादा सख्त महसूस ना हो और शीर्षासन में तो ज्यादा मुलायम स्थान की आवश्यकता होती है क्योंकि इस आसन में शरीर का तमाम बल आपने सिर पर संभालना होता है मस्तिष्क जो शरीर का राजा होता है वह सख्त जमीन पर ठेस या चोट खा सकता है इसलिए इस आसन से पहले कंबल को अच्छी तरह जमीन पर बिछा लेना चाहिए|

शीर्षासन करने का सबसे आसान तरीका व विधि

  • सबसे पहले धुटने टैक कर जमीन पर बिछे हुए आसन पर बैठ जाएं|
  • इसके बाद दोनों हाथों की उंगलियां आपस में फंसा कर उन्हें गोनियो तक अपने सामने जमीन पर अच्छी तरह यह माल है|
  • यह हाथ इस प्रकार सिर को इधर-उधर से सहारा देने के लिए रखे जाते हैं|
  • इसके बाद धीरे से पैरों को ऊपर ले जाएं और एकदम सीधे रखें|
  • इस आसन के दौरान आपका शरीर बिल्कुल सीधा रहे और शरीर का संतुलन अच्छी तरह से बना रहे|
  • इसके बाद धीरे से सांस को छोड़ते हुए पैरों को वापस ले जाएं|
  • इस आसन को तीन या चार बार दोहराएं|

आपको यह आसन सुबह-सुबह करना चाहिए और अभ्यास के दौरान पेट खाली रहना चाहिए तभी ही आप यह आसन अच्छी तरह से कर सकते हैं शुरुआती दिनों में यह आसन करते समय आप दीवार का सहारा लेकर भी यह आसन कर सकते हैं|

शीर्षासन के फायदे

  • यह आसन करने से आपके दिमाग को शांति प्राप्त होती है
  • शीर्षासन करने से शरीर की सभी ग्रंथियां अच्छी तरह से काम करती हैं
  • यह आसन टांगो हाथों और रीड की हड्डी को मजबूत बनाता है
  • शीर्षासन फेफड़ों में ऑक्सीजन की मात्रा बढ़ाता है
  • यह पाचन क्रिया को स्वस्थ बनता है
  • यह आसन करने से आंख के सभी हिस्सों में रक्त अच्छी तरह पहुंचता है जिससे आंख तनावमुक्त रहती है
  • यह आसन शरीर का वजन कम करता है
  • यह आसन शरीर की शक्ति को बढ़ाता है जिससे शरीर का हर हिस्सा मजबूत बनता है और शरीर में वृद्धि होती है

शीर्षासन के पहले कौन सा आसन करें

  1. पिण्डासन
  2. मत्स्यासन
  3. पद्मासन
  4. पीड़ासन
  5. अर्ध मत्स्यासन

शीर्षासन करने के बाद यह आसन करे

  1. बालासन
  2. पद्मासन
  3. योग मुद्रा
  4. तुलासन
  5. बद्ध पद्मासन

शीर्षासन की सावधानियां

  • यदि आप अच्छी तरह से स्वस्थ नहीं है तो किसी योग शिक्षक से पहले सलाह लेकर यह आसन को करें|
  • जिन लोगों को हाई ब्लड प्रेशर की समस्या है वह व्यक्ति आसन बिल्कुल ना करें|
  • यदि आपको आंखों से संबंधित कोई भी बीमारी है तो आप इस आसन को हरगिज ना करें|
  • गर्दन में समस्या होने पर यह आसन बिल्कुल ना करें|
  • सर्दी या अधिक जुकाम की हालत में यह आसन ना करें|

शीर्षासन के नुकसान

यदि आप यह आसन शिक्षक की देखरेख में करती है तो आप को कोई नुकसान नहीं होगा अगर आप यह आसन करते समय बहुत सी गलतियां करते हैं तो आपकी गर्दन टूट भी सकती है और आंखों से संबंधित बहुत से रोग उत्पन्न हो सकते हैं इसलिए यदि आपको इसका पूरा ज्ञान है तभी ही आप इस आसन को अपनी देखरेख में करें|

आपको यह भी जानना चाहिए

Leave a Comment