रसौत क्या होता है रसौत के फायदे व इसकी जानकारी

रसौत एक आयुर्वेद जड़ी बूटी है जिस का वैज्ञानिक नाम “बेर्बेरिस आरिसटाटा” Berberis Aristata DC है और यह “बेबेंरिडोसिए” प्रजाति में आती है यह देखने में झाड़ी जैसी दिखाई देती है और यह काले रंग की होती है वह यह जड़ी-बूटी आंखों के लिए बहुत ही फायदेमंद है इसके उपयोग से आपकी आंखों की रोशनी बनी रहती है

रसौत क्या होता है रसौत के फायदे व इसकी जानकारी

अन्य भाषाओं में रसौत का नाम

हिंदीकिगोड़ा,किलमोरा,दारूहल्दी
संस्कृत दारू-हरिद्रा
तमिल मरांमजल
मराठीदारू-हलद
मलयालममरादरिशिना
पंजाबीकश्मल
कश्मीरीरसवत
बंग़ला दारू-हरिद्रा

पौधे के बारे में जानकारी

  1. यह एक बड़ा झाडीदार और कटीला पौधा होता है
  2. इसकी लकड़ी पीली होती है और शाखाएं सफेद वह बुरी होती है
  3. इसके पत्ते पर बहुत नुकीले कांटे होते हैं
  4. इसके पत्ते चौड़े व लंबाई में 8 सेंटीमीटर तक लंबे होते हैं
  5. इसके पत्तों के ऊपर की तरफ हरा रंग व नीचे की तरफ केले की तरह फीका पीला रंग होता है
  6. रसोद के फूल छोटे व पीले रंग के होते हैं और इनकी लंबाई 5 से 7 सेंटीमीटर तक हो पाती है
  7. इसके फल गहरे नीले व बैंगनी रंग के होते हैं

प्राप्ति स्थान:रसौत के पौधे हिमालय पर्वत से 2000 से 3000 किलोमीटर ऊंचाई के क्षेत्र में पाए जाते हैं यह दक्षिण में नीलगिरी पर्वत पर होते हैं

रसौत के फायदे

  • रसौत की जड़ से बेर्बेरिस नामक एल्केलाइड प्राप्त होता है
  • रसौत की औषधि बनाने के लिए उसकी जड़ की छाल को पानी में उबाला जाता है
  • इस पानी को छानकर आधे ठोस अवस्था में सुखाया जाता है यह द्रव्य रसौत कहलाता है जो जल में घुलनशील होता है
  • रसौत को घी और फिटकरी में मिलाकर लगाने से नेत्र रोग दूर होते हैं
  • कहा जाता है कि रसोत को फोडो तथा जख्मों पर लगाने से भी फायदा होता है
  • परीक्षणों द्वारा दिखाया गया है कि रसौत श्वास व हृदय गति की क्रिया में मदद करती है इस औषधि से क्षय रोग के जीवाणु को रोकने में भी हम मदद मिलती है

अन्य उपयोग

रसौत की जड़ों व शाखाओं से एक पीला रंग प्राप्त होता है जो चमड़ा बनाने तथा रंगने में काम आता है

आपको यह भी जानना चाहिए

  1. कालमेघ के फायदे-Green Chiretta In Hindi
  2. मुंहासे के लिए सबसे अच्छी क्रीम कौन सी है
  3. पेट दर्द के कारण व लक्षण,टेबलेट और इसका देसी उपचार
  4. मानसिक स्वास्थ्य क्या है इसके लक्षण,प्रकार और घरेलू उपचार

Leave a Comment