चालमोगरा औषधि के फायदे-Hydnocarpus Wightianus In Hindi

चालमोगरा एक औषधि है जिसके फायदे(chalmogra ke fayde) घाव को ठीक करना,उल्टी रोकना तथा कुष्ठ रोग को ठीक करती है साथ ही यह खुजली,गले में खराश,सूजन,खांसी और सांस के रोगों में यह औषधि उपयोग की जाती है

चालमोगरा औषधि के फायदे-Hydnocarpus Wightianus In Hindi

चालमोगरा का वैज्ञानिक नाम “हीड्नोकार्पुस कुर्ज़िई”(Hydnocarpus Kurzii) है और इसका उपयोग आंखों की बीमारी में मैं करने से आंखों को बहुत लाभ पहुंचता है और त्वचा के रोगों में यह औषधि सबसे ज्यादा इस्तेमाल की जाती है चाल मोगरा का तेल कंठ के रोगों के लिए भी उपयोग किया जाता है चालमोगरा का तेल को मक्खन में मिलाकर गाठो पर लेप करने से कंठ के तमाम रोग खत्म हो जाते हैं

चालमोगरा के फायदे

  • चालमोगरा औषधि के ताजे पके हुए बीजों का तेल बनाया जाता है
  • यह कुष्ठ रोगों के लिए उपयोग की जाती है
  • इस वृक्ष की छाल में टैटिन होता है
  • यह औषधि ज्वर को खत्म करने के लिए उपयोग की जाती है
  • इसके तेल के सेवन से शरीर में ब्लड प्रेशर का स्तर सही रहता है
  • यह शरीर पर हर प्रकार की सूजन को कम करती है
  • चालमोगरा के तेल के लेप से शरीर के घाव जल्दी भर आते हैं
  • इसके तेल का लेप बनाकर जोड़ों पर लगाने से दर्द खत्म होता है
  • इसके सेवन से पेट का दर्द खत्म होते हैं
  • इसके सेवन से त्वचा के रोग खत्म होते हैं
  • पहले इसका सेवन तेल के रूप में किया जाता था किंतु अब चालमोगरा तेल की बनी औषधियों को इंजेक्शन द्वारा शरीर में पहुंचाया जाता है

चालमोगरा का पेड़ कैसा होता है

  1. इसका वृक्ष 10 से 15 मीटर तक ही ऊंचाई हो पाता है
  2. इसका मुख्य ताना अधिक लंबा होता है
  3. इसकी शाखाएं नीचे झुकी हुई होती है
  4. इसके पत्ते 20 सेंटीमीटर तक ही लंबे हो पाते हैं
  5. इसके गुदा आकार में छोटे और पीले रंग के होते हैं
  6. इसका फल 6 सेंटीमीटर गोल तथा भूरे रंग का होता है
  7. इसके अंदर बीज थोड़ी कम मात्रा में होते हैं
  8. इसके पेड़ की छाल भी बहुत उपयोगी समझी जाती है
  9. चालमोगरा के वृक्ष पर अगस्त से मार्च तक के महीने में फल पकता है

प्राप्ति स्थान: चालमोगरा के वृक्ष असम और त्रिपुरा के सदाबहार वनों में पाया जाता है कुछ स्थानों पर यह बहुत कम मात्रा में उगते हैं

चालमोगरा के अन्य उपयोेग

चालमोगरा के वृक्ष का हार भाग इस्तेमाल किया जाता है जैसे फल जड़ की छाल फूल पत्ते बीज तेल आदि के मिश्रण से अनेक प्रकार की औषधियां बनाई जाती है जिससे आपको बहुत लाभ पहुंचता है इसके तेल का सेवन करने से आप बालों को गिरने से भी रोक सकते हैं व अगर आप चालमोगरा के तेल की 5 बूंदे कैप्सूल या मक्खन आदि के साथ भोजन के आधे घंटे के बाद सुबह-शाम खाते हैं तो इससे आपका रक्त शुद्ध रहता है और रक्त का विकास होता है

हम आशा करते हैं कि हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपके लिए फायदेमंद सिद्ध रही होगी इसलिए इसको सोशल मीडिया पर शेयर करना मत भूलें और अगर आपको इस लेख से संबंधित कोई भी प्रश्न आपके मन में है तो आप हमें पूछ सकते हैं

आपको यह भी जानना चाहिए:

Leave a Comment